February 3, 2023
World

मृतक पीआईओ दंपति के बच्चे सुरक्षित, जल्द ही भारत आएंगे

न्यूयॉर्क :   आंध्र प्रदेश के भारतीय-अमेरिकी जोड़े की दो नाबालिग बेटियां वर्तमान में एक पारिवारिक मित्र के साथ रह रही हैं, और जल्द ही भारत के लिए उड़ान भरेंगी, भारतीय-अमेरिकी जोड़े की एरिजोना राज्य में डूबकर मौत हो गई थी। क्रिसमस के एक दिन बाद अमेरिकी राज्य एरिजोना में कोकोनिनो काउंटी में वुड्स कैन्यन झील में 49 वर्षीय नारायण मुड्डाना, उनकी पत्नी हरिथा मुड्डाना और उनके 47 वर्षीय दोस्त गोकुल मेदिसेटी डूब गए थे।

एबीसी 15 की रिपोर्ट के अनुसार, 7 और 12 साल की उम्र की ये लड़कियां किशोर पिट्टाला के परिवार के साथ रह रही हैं- मुड्डाना के पड़ोसी और करीबी दोस्त हैं। पिट्टाला और अन्य दोस्तों ने 26 दिसंबर की रात एरिजोना से दोनों बच्चों को बाल सुरक्षा विभाग की हिरासत से लिया।

पिट्टाला ने एबीसी 15 को बताया, मैं चेहरों से देख सकता हूं, मुझे पता है कि उनमें कुछ उदासी है। लेकिन वह अभी ठीक हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि लड़कियां जल्द ही गुंटूर जाएंगी जहां उनके दादा-दादी उनकी देखभाल करेंगे। पिट्टाला ने एबीसी 15 को बताया कि मुड्डाना परिवार ने कुछ दिन पहले उसे हरिता का जन्मदिन मनाने के लिए वुड्स कैन्यन झील पर आमंत्रित किया था, जिससे उसने इनकार कर दिया।

कुल 11 लोग गए, जिनमें छह वयस्क और पांच बच्चे शामिल थे। पिट्टाला ने कहा- मैं सदमे में था, एक पल के लिए मुझे समझ नहीं आया, क्या यह वास्तव में हुआ है? एरिजोना में सात साल से रह रहे मुड्डाना झील की तस्वीरें खींच रहे थे, तभी अचानक बर्फ गिर गई और दंपति माइनस 30 डिग्री पानी में डूब गए।

नारायण के पिता वेंकट सुब्बा राव और माता वेंकट रत्नम पलपरू गांव में यह खबर सुनकर चौंक गए। सुब्बा राव ने कहा कि उन्होंने उस सप्ताह की शुरूआत में नारायण से फोन पर बात की थी और अमेरिका में सर्दियों के तूफान को देखते हुए उनका हालचाल पूछा था।

Leave feedback about this

  • Service