June 28, 2022
Himachal Litrature

शिमला में अंतरराष्ट्रीय साहित्य उत्सव का आरम्भ

अंतरराष्ट्रीय साहित्य उत्सव ‘उन्मेष’ का शुभारम्भ गुरुवार को शिमला के ऐतिहासिक गेयटी थियेटर के मुख्य सभागार में हुआ। यह 18 जून तक चलेगा।.

Read More
Litrature

सुमित्रानंदन पंत के प्रकृति प्रेम की प्रकाष्ठा है, उनकी कविता “मोह”

मोह छोड़ द्रुमों की मृदु-छाया, तोड़ प्रकृति से भी माया, बाले! तेरे बाल-जाल में कैसे उलझा दूँ लोचन? भूल अभी से इस जग.

Read More
Litrature

International Booker Prize for Geetanjali Shree : गीतांजलि श्री ने किया देश को गोर्वान्वित

भारतीय हिन्दी साहित्य की सुप्रसिद्ध लेखिका गीतांजलि श्री ने देश को सम्मान दिलाया है। उन्होंने इस वर्ष का इंटरनेशनल बुकर प्राइज जीत कर.

Read More
Litrature

साहित्य दर्पण : मशहूर शायर और गीतकार मजरूह सुल्तानपुरी की 22वीं पुण्यतिथि

 आज मशहूर शायर और गीतकार मजरूह सुल्तानपुरी की 22वीं पुण्यतिथि है। छहः दशक तक मजरूह ने फिल्म इंडस्ट्री को बेहतरीन गाने दिए हैं।.

Read More
Litrature

धर्मवीर भारती की कविता टूटा पहिया

  टूटा पहिया मैं रथ का टूटा हुआ पहिया हूँ लेकिन मुझे फेंको मत ! क्या जाने कब इस दुरूह चक्रव्यूह में अक्षौहिणी सेनाओं.

Read More
Litrature

मार्मिक यथार्थ की प्रकाष्ठा है काव्य-सृजन की कड़ी में निराला की ‘तोड़ती पत्थर’

तोड़ती पत्थर वह तोड़ती पत्थर; देखा मैंने उसे इलाहाबाद के पथ पर- वह तोड़ती पत्थर। कोई न छायादार पेड़ वह जिसके तले बैठी.

Read More
Litrature

सुदामा पांडेय ‘धूमिल’ और उनकी कविता ’मोचीराम’

’’इस कविता के द्वारा धूमिल ने यह जताने की कोशिश की है कि कविता तथाकथित सभ्य और बुद्धिजीवी वर्ग की बपौती नहीं है.

Read More