January 29, 2023
Cricket Sports

मेलबर्न में भारत-पाकिस्तान टेस्ट की मेजबानी के बारे में हुई पूछताछ

मेलबर्न, मेलबर्न क्रिकेट क्लब और विक्टोरियन सरकार ने अक्टूबर में भारत और पाकिस्तान के बीच खेले गए टी20 विश्व कप मुकाबले की सफलता के बाद एमसीजी में दोनों पक्षों के बीच टेस्ट मैच की मेजबानी के बारे में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) से अनौपचारिक पूछताछ की है।

ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्ऱीका के बीच दूसरे टेस्ट के चौथे दिन एसईएन रेडियो पर बोलते हुए, एमसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्टुअर्ट फॉक्स ने बताया कि क्लब और साथ ही विक्टोरिया सरकार ने न्यूट्रल टेस्ट की मेजबानी के बारे में सीए से पूछताछ की थी।

भारत और पाकिस्तान ने 2007 से एक दूसरे के खिलाफ कोई टेस्ट मैच नहीं खेला है। 2013 से इन दोनों टीमों के बीच विश्व कप और एशिया कप के बाहर कोई द्विपक्षीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला गया है।

हालांकि फॉक्स ने कहा कि एमसीसी नवंबर में टी20 विश्व कप में आखिरी गेंद का रोमांच देखने के लिए 90,293 प्रशंसकों के एमसीजी में जमा होने के बाद टेस्ट क्रिकेट में इन दोनों देशों की मेजबानी करना पसंद करेगा।

फॉक्स ने कहा, “बिल्कुल, एमसीजी में लगातार तीन (टेस्ट) शानदार होंगे। यह (मैदान) हर बार भर जाएगा। हमने इसके बारे में पूछा है। हमने इस मुद्दे को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के साथ उठाया है। मुझे पता है कि (विक्टोरिया) सरकार ने भी ऐसा किया है। लेकिन जितना मैं समझ सकता हूं, व्यस्त कार्यक्रम के बीच ऐसा कर पाना बहुत जटिल है। मुझे लगता है कि शायद यह बड़ी चुनौती है।”

उन्होंने आगे कहा, “क्या यह बहुत अच्छी बात नहीं होगी कि यह सिर्फ ऑस्ट्रेलिया-केंद्रित और विक्टोरिया-केंद्रित नहीं था, कि हम सभी देशों के लिए व्यवस्था कर रहे हैं और स्टेडियम को हर समय भर रहे हैं। इसलिए हमने पूछा है।”

फॉक्स ने आगे कहा, “उम्मीद है, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इस मुद्दे को आईसीसी के साथ उठाता रहेगा और इसके लिए जोर देता रहेगा। जब आप दुनिया भर के कुछ स्टेडियमों को खाली देखते हैं, तो मुझे लगता है कि यह (प्रस्ताव) भरे हुए स्टेडियम और उस माहौल के साथ खेल का जश्न मनाने के लिए बेहतर होगा।”

2023 से 2027 के बीच के नए भविष्य दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) में भारत और पाकिस्तान के बीच कोई द्विपक्षीय क्रिकेट निर्धारित नहीं किया गया है। यहां तक कि 2023 के एशिया कप और वनडे विश्व कप के लिए एक-दूसरे की यात्रा करने को लेकर भी दोनों पक्षों में तनाव बना हुआ है।

सीए के एक प्रवक्ता ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से पुष्टि की कि भारत और पाकिस्तान के बीच न्यूट्रल टेस्ट या टेस्ट सीरीज खेलने का कोई भी निर्णय पूरी तरह से बीसीसीआई और पीसीबी के हाथों में है। हालांकि उन्होंने यह कहा कि अगर कभी दोनों बोर्ड के बीच कोई समझौता हुआ तो ऑस्ट्रेलिया के किसी मैदान पर न्यूट्रल टेस्ट मैच की मेजबानी करने में सीए की रुचि होगी।

प्रवक्ता ने कहा, “यह दोनों देशों पर निर्भर करेगा कि वे किस पर सहमत हों। हालांकि अगर न्यूट्रल स्थान पर भारत और पाकिस्तान के बीच एक टेस्ट होना होगा, तो हम निश्चित रूप से ऑस्ट्रेलिया में इसकी मेजबानी करने के अवसर में रुचि लेंगे। विश्व कप के लिए यहां दोनों टीमों के समर्थक अद्भुत थे और इनमें से अधिकतर प्रशंसक ऑस्ट्रेलिया में रहते हैं।”

पाकिस्तान अगले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप चक्र में तीन मैचों की सीरीज के हिस्से के रूप में 2023 में एमसीजी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉक्सिंग-डे टेस्ट खेलने वाला है। फॉक्स को उम्मीद थी कि एमसीजी उतनी ही संख्या में पाकिस्तान के प्रशंसकों को आकर्षित कर सकता है, जो भारत के खिलाफ टी20 विश्व कप मैच और इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल के लिए मैदान पर आए थे।

फॉक्स ने कहा, “मैंने एमसीजी में कभी ऐसा कुछ नहीं देखा, भारत-पाकिस्तान का मैच कुछ और ही था। मैंने कभी ऐसा माहौल महसूस नहीं किया। हर गेंद के बाद शोर अभूतपूर्व था और परिवार और बच्चे और हर कोई इसका आनंद ले रहा था।”

उन्होंने आगे कहा, “मुझे लगता है कि अगर हम अधिक समावेशी हो सकते हैं और यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि हम सभी संस्कृतियों को साथ लेकर चलें, तो हमें अगले साल उस पाकिस्तानी समुदाय में टैप करना होगा। हम चाहते हैं कि वह यहां आए और पहले दिन का फुल हाउस होना शानदार होगा।”

Leave feedback about this

  • Service