March 26, 2023
Entertainment

‘एलीफैंट व्हिस्पर्स’ ऑस्कर सरकार को वन्य जीवन अधिनियम में संशोधन नहीं करने के लिए मजबूर कर सकता है : जयराम

नई दिल्ली, ‘द एलिफेंट व्हिस्पर्स’ को अकादमी पुरस्कारों में ऑस्कर मिलने के बाद, पूर्व पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश ने उम्मीद जताई कि यह सरकार को वन्य जीवन अधिनियम में संशोधन के बारे में पुनर्विचार करने के लिए मजबूर कर सकता है। उन्होंने कहा- यह आश्चर्यजनक है कि द एलिफेंट व्हिस्पर्स ने ऑस्कर जीता है। शायद यह मोदी सरकार को वन्य जीवन संरक्षण अधिनियम, 1972 में व्यापक रूप से विरोध किए गए हाथी-अमित्र संशोधनों के साथ आगे नहीं बढ़ने के लिए मजबूर करेगा। 2010 में, हाथी को राष्ट्रीय विरासत पशु घोषित किया गया था।

डॉक्यूमेंट्री ‘द एलिफेंट व्हिस्पर्स’ ने 95वें ऑस्कर अवॉर्डस में बेस्ट डॉक्यूमेंट्री शॉर्ट फिल्म कैटेगरी में ऑस्कर जीता है। यह पुरस्कार ‘द लास्ट ऑफ अस’ के अभिनेता प्रेडो पास्कल द्वारा प्रस्तुत किया गया था। ‘द एलिफेंट व्हिस्पर्स’ श्रेणी में ‘हॉलआउट’, ‘हाउ डू यू मेजरमेंट ए ईयर?’, ‘द मार्था मिशेल इफेक्ट’ और ‘स्ट्रेंजर एट द गेट’ के साथ प्रतिस्पर्धा कर रहा था।

यह पुरस्कार निर्देशक कार्तिकी गोंजाल्विस और निमार्ता गुनीत मोंगा ने ग्रहण किया। कार्तिकी ने फिल्म के बारे में बात की और कहा कि यह सह-अस्तित्व के लिए है और उनके काम को पहचानने के लिए अकादमी पुरस्कारों को धन्यवाद दिया।

‘एलिफेंट व्हिस्पर्स’ कार्तिकी गोंजाल्विस के निर्देशन में बनी पहली फिल्म है। डॉक्यूमेंट्री उस बंधन के बारे में है जो एक जोड़े और एक अनाथ बच्चे हाथी, रघु के बीच विकसित होता है, जिसे उनकी देखभाल के लिए सौंपा गया था।

Leave feedback about this

  • Service