January 29, 2023
Chandigarh Haryana

पंचकूला: ट्रांस-घग्घर निवासियों के लिए राहत

पंचकूला  :  घग्घर नदी के किनारे रहने वाले लोगों को एक बड़ी राहत देते हुए झूरीवाला डंपिंग साइट से दो तिहाई कचरा उठा लिया गया है।

पंचकूला नगर निगम द्वारा किराए पर ली गई फर्म पूजा कंसुलेशन कंपनी ने पिछले एक महीने में कचरा प्रसंस्करण संयंत्र से 18,000 टन कचरा उठाया है।

प्रतिदिन सैकड़ों टन कचरा सोनीपत और बवाना के बिजली संयंत्रों को आरडीएफ (रिफ्यूज-डेराइव्ड फ्यूल) में बदलने के लिए भेजा जा रहा है। घग्गर के सेक्टरों में रहने वाले लोगों को राहत देते हुए क्षेत्र में दुर्गंध की समस्या लगभग समाप्त हो गई है।

फर्म के मैनेजर मयंक मल्होत्रा ​​ने बताया कि करीब दो माह से दोनों बिजलीघरों को रोजाना 400 से 500 टन आरडीएफ भेजा जा रहा था। उन्होंने दावा किया कि अगले कुछ दिनों में झूरीवाला डंपिंग ग्राउंड को पूरी तरह साफ कर दिया जाएगा।

मुख्य स्वच्छता निरीक्षक अविनाश सिंगला ने बताया कि पिछले एक माह में झूरीवाला से 18 हजार टन कूड़ा उठाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि रोजाना 10 से 12 ट्रॉलियों में कचरा भरकर सोनीपत भेजा जा रहा है। सिंगला ने कहा कि प्रतिदिन 400 टन से अधिक कचरा उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि करीब 8,000 टन कचरा बचा है, जिसे अगले कुछ दिनों में हटा दिया जाएगा।

मुरथल में ताजपुर रोड पर बन रहे वेस्ट टू एनर्जी प्लांट में बिजली और खाद तैयार किया जाएगा। यह राज्य में इस तरह का पहला प्लांट है। प्लांट चालू होने तक झूरीवाला से कचरा सोनीपत भेजा जा रहा है।

 

Leave feedback about this

  • Service