August 19, 2022
Delhi National

प्रदर्शनकारी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए दिल्ली पुलिस ने किया वाटर कैनन का इस्तेमाल

नई दिल्ली,  प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा गुरुवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को तलब किए जाने को लेकर सैकड़ों पार्टी कार्यकर्ता राष्ट्रीय राजधानी में विभिन्न स्थानों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। 24, अकबर रोड पर पार्टी मुख्यालय के बाहर एकत्र हुए प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए दिल्ली पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया, जो पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड्स को पार करने की कोशिश कर रहे थे।

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि उनकी पार्टी सोनिया गांधी को ईडी के समन का विरोध कर रही है। उन्होंने कहा, “एजेएल-यंग इंडिया लेनदेन को बुक्स ऑफ अकाउंट, दोनों कंपनियों द्वारा दाखिल रिटर्न और आयकर रिटर्न में दर्ज किया गया है। ईडी जो कुछ जानना चाहता है वह रिकॉर्ड में पाया जा सकता है।”

उन्होंने आगे कहा कि आयकर का मामला सुप्रीम कोर्ट के समक्ष लंबित है। चिदंबरम ने कहा, “ईडी सुप्रीम कोर्ट से बड़ी नहीं है। वह क्या है, जिसकी ईडी ‘जांच’ करना चाहती है और जिसकी सुप्रीम कोर्ट द्वारा जांच नहीं की जा सकती?” उन्होंने आगे कहा कि ईडी सुप्रीम कोर्ट से ऊपर होकर काम कर रही है और कांग्रेस पार्टी को डराने की कोशिश कर रही है, मगर कांग्रेस पार्टी किसी भी तरह के डराने-धमकाने से नहीं झुकेगी।

विरोध प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता बैरिकेड्स को धक्का देते नजर आए।

इस बीच, एक निवारक कार्रवाई के रूप में, पुलिस ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम, अधीर रंजन चौधरी, सचिन पायलट, अजय माकन, दीपेंद्र हुड्डा, आईवाईसी अध्यक्ष बी. श्रीनिवास सहित कई अन्य पार्टी नेताओं को हिरासत में ले लिया।

पार्टी नेताओं ने आरोप लगाया कि पुलिस उन्हें सरकार के खिलाफ प्रदर्शन तक नहीं करने दे रही है और लगातार उन्हें परेशान कर रही है।

हिरासत में लिए गए पार्टी नेताओं को किंग्सवे कैंप पुलिस लाइन के उत्सव सदन ले जाया गया।

Leave feedback about this

  • Service