June 28, 2022
Haryana

कुलदीप बिश्नोई देंगे कांग्रेस को दोहरा झटका?

Congress leader Kuldeep Bishnoi had been angry with the party’s top leadership for a long time and the closeness between him and BJP leaders was seen for a long time.

राज्यसभा चुनाव में कथित तौर पर ‘क्रॉस वोटिंग’ करने को लेकर कांग्रेस ने कुलदीप बिश्नोई को शनिवार को पार्टी के सभी पदों से हटा दिया। उधर अब कयास लगाए जा रहे हैं कि बिश्नोई बहुत जल्द भाजपा में शामिल हो सकते हैं। हरियाणा के राजनीतिक गलियारे में कांग्रेस पार्टी से निष्कासन के बाद कुलदीप बिश्नोई के अगले कदम का इंतजार जरूर है लेकिन भाजपा के सूत्र इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि वे बहुत जल्द पार्टी में शामिल हो सकते हैं।

राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई ने कार्तिकेय शर्मा के लिए ‘क्रॉस वोटिंग’ की थी।  कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई लंबे समय से पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से नाराज चल रहे थे पिछले काफी समय से उनके और भाजपा नेताओं के बीच नजदीकियां देखी गईं।

सूत्रों के मुताबिक उनके भाजपा में शामिल होने की ‘शर्तें’ अंतिम चरण में हैं। हालांकि बिश्नोई विधायक के रूप में बने रह सकते हैं, भले ही उन्होंने पार्टियां बदल ली हों। अगर बिश्नोई ने अपनी सीट से इस्तीफा नहीं देने का फैसला किया और विधायक बने रहे तो हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष के पास अयोग्यता याचिका दायर की जा सकती है।

पर्दे के पीछे किए सौदे की अफवाह तेज

यह भी कहा जा रहा है कि वह अपने बेटे भव्या बिश्नोई के राजनीतिक करियर को लॉन्च करने के इच्छुक हैं। भव्या ने 2019 का लोकसभा चुनाव हिसार से कांग्रेस के टिकट पर लड़ा था लेकिन जीत नहीं मिली थी। सूत्रों ने कहा कि बिश्नोई अपने बेटे के करियर की शुरुआत करने के लिए पद छोड़ सकते हैं और उन्हें कोई और पद दिया जा सकता है। हालांकि दूसरी तरफ भाजपा ने कहा कि पर्दे के पीछे कोई ‘सौदा’ नहीं किया जा रहा और पार्टी की नीतियों में विश्वास के कारण बिश्नोई ‘बिना शर्त’ पार्टी में शामिल होंगे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ओपी धनखड़ ने कहा कि अभी तक उन्होंने पार्टी में शामिल होने के अपने इरादे के बारे में कोई शर्त नहीं रखी है।

Leave feedback about this

  • Service