August 19, 2022
National

सोनिया गांधी से ईडी की पूछताछ को लेकर लोक सभा में हंगामा

नई दिल्ली, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से केंद्रीय जांच एजेंसी ईडी की पूछताछ को लेकर गुरुवार को कांग्रेस सांसदों ने लोक सभा में जमकर हंगामा किया। कांग्रेस सांसदों की नारेबाजी और सोनिया गांधी की तस्वीर वाली तख्तियों पर नाराजगी जाहिर करते हुए केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा कि कानून के समक्ष सब समान है, क्या कांग्रेस की अध्यक्षा होने के नाते सोनिया गांधी सुपर ह्यूमन है, कानून से ऊपर है। गुरुवार को सुबह 11 बजे लोक सभा की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस सांसद सोनिया गांधी की तस्वीर वाली तख्तियां लेकर नारेबाजी करते हुए वेल में आ गए। कांग्रेस सांसद आसन के निकट पहुंचकर और वेल में खड़े होकर लगातार नारेबाजी करते नजर आए। लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने नारेबाजी के बीच सदन में प्रश्नकाल को चलाने का प्रयास किया लेकिन हंगामा जारी रहा। इसी दौरान अन्य विरोधी दलों के सांसद महंगाई और जीएसटी को लेकर वेल में तख्तियां लहराते हुए नारेबाजी करते रहे।

इस नारेबाजी के बीच सरकार की तरफ से केंद्रीय संसदीय मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा कि कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल महंगाई पर चर्चा की मांग कर रहे थे। सरकार ने इनकी मांगें मानते हुए दोनों सदनों में कह दिया है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के स्वस्थ होते ही (कोविड संक्रमित हैं वित्त मंत्री) जब भी अध्यक्ष (लोक सभा में) और सभापति (राज्य सभा में) कार्य मंत्रणा समिति में इस पर चर्चा का समय तय करेंगे, सरकार इसके लिए तैयार है।

जोशी ने हंगामा कर रहे कांग्रेस सांसदों पर निशाना साधते हुए कहा कि अब ये जिनकी तख्तियां लेकर आएं हैं क्या कांग्रेस की अध्यक्षा होने के नाते वो सोनिया गांधी सुपर ह्यूमन है, कानून से ऊपर है। उन्होंने कहा कि कानून के सामने सब समान है। लगातार जारी हंगामे की वजह से लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदन की कार्यवाही को 11:30 बजे तक स्थगित कर दिया।

ईडी के ‘दुरुपयोग’ को लेकर कांग्रेस सांसदों ने राज्यसभा और लोकसभा में दिया स्थगन नोटिस

प्रवर्तन निदेशालय द्वारा नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया गांधी से पूछताछ से पहले कांग्रेस सांसदों ने विरोधियों के खिलाफ एजेंसियों के दुरुपयोग को लेकर संसद के दोनों सदनों में स्थगन नोटिस दिया। लोकसभा में गौरव गोगोई और मनिकम टैगोर ने नोटिस दिया।

कांग्रेस सांसद के.सी. वेणुगोपाल ने देश में केंद्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग का हवाला देते हुए राज्यसभा में व्यावसायिक नोटिस को निलंबित कर दिया।कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी नेशनल हेराल्ड मामले को लेकर ईडी के सामने पेश होंगी। उनके सुबह 11 बजे तक ईडी मुख्यालय पहुंचने की संभावना है।उनसे एक महिला समेत संयुक्त निदेशक स्तर के अधिकारियों की टीम पूछताछ करेगी।ईडी के सूत्रों ने सुझाव दिया कि उनसे वही सवाल पूछे जाएंगे, जो राहुल गांधी से उनकी पांच दिवसीय पूछताछ के दौरान पूछे गए थे। सूत्रों के अनुसार, ईडी सोनिया गांधी से यंग इंडिया (वाईआई) और एसोसिएटेड जर्नल लिमिटेड (एजेएल) के बीच सौदे में उनकी भूमिका के बारे में पूछेगी।

सोनिया गांधी की खराब सेहत के कारण ईडी से राहत की मांग कर सकती हैं बेटी प्रियंका

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) गुरुवार को कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी से नेशनल हेराल्ड मामले में पूछताछ करेगा। इस बीच कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा अपनी मां सोनिया गांधी के लिए ईडी से कुछ राहत की मांग कर सकती हैं। सोनिया गांधी की सेहत अभी पूरी तरह ठीक नहीं है। उन्हें बोलने में दिक्कत है। ऐसे में प्रियंका उनकी मेडिकल रिपोर्ट्स के आधार पर ईडी से राहत की मांग कर सकती हैं।

सूत्र ने कहा कि सोनिया गांधी को कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद से बोलने में काफी दिक्कत हो रही है। सूत्र ने कहा, “सोनिया को यह समस्या बीमारी के कारण हुई है।”अपने खराब स्वास्थ्य के कारण, सोनिया गांधी पहले भी जांच में शामिल होने में असमर्थता जता चुकी हैं। सोनिया गांधी से एक महिला समेत संयुक्त निदेशक स्तर के अधिकारियों की टीम पूछताछ करेगी। ईडी सूत्रों ने दावा किया कि उनसे वही सवाल पूछे जाएंगे जो राहुल गांधी से उनकी पांच दिन की पूछताछ के दौरान पूछे गए थे। सूत्रों ने कहा, “सोनिया गांधी से यंग इंडिया और एसोसिएटेड जर्नल लिमिटेड (एजेएल) के बीच सौदे में उनकी भूमिका के बारे में पूछा जाएगा।”

पेशी से पहले ईडी दफ्तर के आसपास कड़ी सुरक्षा  के चलते कई रूट किए गए डायवर्ट

नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से पूछताछ से पहले कांग्रेस मुख्यालय और प्रवर्तन निदेशालय कार्यालय के आसपास बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है और यातायात के कई रूट बदल दिए गए हैं। पुलिस को अनुमान था कि कांग्रेस कार्यकर्ता पार्टी मुख्यालय से विरोध मार्च निकाल सकते हैं, उन्होंने प्रदर्शनकारियों को ईडी कार्यालय की ओर बढ़ने से रोकने के लिए सड़क पर कई बैरिकेड्स लगा दिए।

24 अकबर रोड से ईडी कार्यालय पर्यावरण भवन, डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम रोड तक के रास्ते में बैरिकेड्स लगाए गए थे।किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए भारी संख्या में पुलिसकर्मियों के साथ अर्धसैनिक बल और रेपिड एक्शन फोर्स की टीमों को कई स्थानों पर तैनात किया गया। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने भी एक एडवाइजरी जारी कर लोगों से गुरुवार को कुछ सड़कों से बचने को कहा है। एडवाइजरी में कहा गया है, “कृपया सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच मोतीलाल नेहरू मार्ग, अकबर रोड, जनपथ और मान सिंह रोड से बचें। विशेष व्यवस्था के कारण इन सड़कों पर यातायात की आवाजाही संभव नहीं होगी।”

लोगों से गोल मेथी जंक्शन, तुगलक रोड जंक्शन, क्लेरिजेस जंक्शन, क्यू-पॉइंट जंक्शन, सुनहरी मस्जिद जंक्शन, मौलाना आजाद रोड जंक्शन और मान सिंह रोड जंक्शन से ऊपर बताए गए समय के दौरान बचने के लिए भी कहा गया है। इस बीच, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस मीडिया को कांग्रेस पार्टी मुख्यालय में प्रवेश करने से रोक रही है। कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया, “इस मनमानी की केवल उम्मीद की जानी थी और यह मोदी सरकार की मानसिकता को दर्शाता है।” पिछले महीने कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी से प्रवर्तन निदेशालय द्वारा पूछताछ के दौरान विरोध प्रदर्शन किया था।

Leave feedback about this

  • Service