June 29, 2022
National

भारत में हिंसा के लिए पाकिस्तान को ठहराया जिम्मेदार

भोपाल, केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने शनिवार को पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ भाजपा प्रवक्ता की विवादास्पद टिप्पणी के बाद हुए हिंसक विरोध प्रदर्शन के पीछे पाकिस्तान की भूमिका का आरोप लगाया।

पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ भाजपा के दो नेताओं की विवादास्पद टिप्पणी पर देश भर में राजनीतिक तनाव तो बढ़ ही गया है, साथ ही विभिन्न राज्यों में मुस्लिम समुदाय के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। शुक्रवार को कई शहरों में जुमे की नमाज के बाद बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने विरोध जताया था। इस पर टिप्पणी करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, “कुछ तत्व भारत के बढ़ते कद से ईष्र्या करते हैं।” मंत्री की यह टिप्पणी शनिवार को मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले के दौरे के दौरान सामने आई। मंत्री ने कहा कि इस तरह की गतिविधियों से समाज को सतर्क रहना चाहिए।

उन्होंने कहा, “केंद्र सतर्क है और इस मामले में कानून के तहत जो भी जायज होगा, किया जाएगा। हालांकि, बहुसांस्कृतिक देशों में दरार को बढ़ावा देने की ऐसी प्रवृत्ति एक चुनौती और चिंता का विषय भी है।” पटेल ने जबलपुर में संवाददाताओं से बात करते हुए कहा, “यह एक खुला रहस्य है कि पाकिस्तान वह देश है जो भारत से ईष्र्या करता है। ये सभी विरोध कुछ कट्टरपंथियों द्वारा किए जा रहे हैं। ऐसी घटनाएं निहित तत्वों द्वारा प्रायोजित हैं।”

शुक्रवार को भोपाल, जबलपुर, छिंदवाड़ा और दमोह जिलों सहित मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में भी विरोध प्रदर्शन हुए थे। भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के विवादित बयान के विरोध में भारी भीड़ ने छिंदवाड़ा जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। भारी पुलिस सुरक्षा के बीच राजा टॉकीज से जुलूस निकाला गया। स्थानीय निकाय चुनावों के मद्देनजर निषेधाज्ञा लागू होने का हवाला देते हुए प्रशासन द्वारा अनुमति देने से इनकार करने के बावजूद विरोध प्रदर्शन किया गया।

पुलिस के अनुसार, जिला पुलिस को ज्ञापन सौंपने के लिए बड़ी संख्या में मुस्लिमों ने पुलिस बैरिकेड्स को पार किया। हालांकि, राज्य में हिंसा की कोई घटना नहीं हुई। शुक्रवार के मार्च पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि यह ‘रिसर्च’ का मामला है कि छिंदवाड़ा में पुलिस बैरिकेड्स को पार करने के पीछे कौन था।

मिश्रा, जो राज्य सरकार के प्रवक्ता भी हैं, ने कहा, “हमें मध्य प्रदेश पुलिस को धन्यवाद देना चाहिए, जिसने राज्य में शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखा। कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। अगर कोई राज्य में शांति भंग करने का प्रयास करता है, तो पुलिस उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।”

Leave feedback about this

  • Service