August 19, 2022
National

सीरियल किलिंग मामला : कर्नाटक में दोपहिया वाहन पर पीछे बैठने पर लगेगा प्रतिबंध

दक्षिण कन्नड़, कर्नाटक पुलिस विभाग रात के समय दक्षिण कन्नड़ जिले में पुरुषों के दुपहिया वाहन के पीछे की सवारी करने पर प्रतिबंध लगाएगा। एडीजीपी (कानून व्यवस्था) आलोक कुमार ने गुरुवार को यह घोषणा की। आलोक कुमार ने कहा कि यह नियम दक्षिण कन्नड़ जिले में रात के कर्फ्यू को हटाने के बाद लागू होगा, जो राज्य में सिलसिलेवार हत्याओं के बाद लगाया गया है।

एडीजीपी ने कहा कि बुजुर्ग व्यक्तियों को नियम में छूट दी गई है और वे पीछे की सवारी कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, “यह उपाय केरल के वायनाड जिले में किया गया था। सभी पुरुषों को दोपहिया वाहन चलाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। यहां प्रतिबंध केवल पीछे बैठने वालों पर होगा।”

माना जाता है कि यह कदम आमतौर पर जिले में राजनीतिक हत्याओं के तौर-तरीकों के रूप में आया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, यह निर्णय इसलिए लिया गया, क्योंकि जांच में साबित हुआ है कि जिले में युवकों का ब्रेनवॉश किया जाता है और ‘सुपारी’ लेकर हत्याएं की जाती हैं।

उन्होंने आगे कहा कि गृहमंत्री और डीजीपी के निर्देशानुसार सीमावर्ती जिले दक्षिण कन्नड़ में 18 चेक पोस्ट खोले जा रहे हैं।

सीसीटीवी चेक पोस्ट पर लगाए जाएंगे और कर्नाटक राज्य रिजर्व पुलिस (केएसआरपी) के कर्मचारियों की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह कड़ी सुरक्षा व्यवस्था एक साल तक रहेगी।

भाजपा कार्यकर्ता प्रवीण कुमार नेतरु हत्याकांड की जांच की प्रगति के बारे में उन्होंने कहा, पुलिस ने सफलतापूर्वक पता लगा लिया है कि उनकी हत्या के पीछे कौन है। उन्होंने कहा कि हत्या किसने की, किसने साजिश रची और योजना बनाई, इस बारे में पहले ही जानकारी जुटा ली गई है और उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

उन्होंने कहा, मामले को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को कब सौंपना है। इस पर फैसला लिया जाएगा। हालांकि, मामले को सौंपने से पहले, कर्नाटक पुलिस सभी आरोपियों को गिरफ्तार करेगी।

Leave feedback about this

  • Service