August 18, 2022
Cricket Sports

बेन स्टोक्स ने खराब बल्लेबाजी की : पीटरसन

बर्मिघम, इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने एजबेस्टन में पुनर्निर्धारित पांचवें टेस्ट के तीसरे दिन भारत के खिलाफ पहली पारी में बल्लेबाजी करने के लिए मौजूदा कप्तान बेन स्टोक्स को फटकार लगाते हुए कहा कि उन्होंने खराब बल्लेबाजी की। रविवार को स्टोक्स इंग्लैंड की पहली पारी में 25 रन पर आउट हो गए।

कप्तान जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी द्वारा विकेट के दोनों ओर हमले करने के बाद, स्टोक्स ने इस प्रक्रिया में कुछ रन हासिल करते हुए तेज गेंदबाजों के खिलाफ तेज रन बनाने का विकल्प चुना। शार्दुल ठाकुर और बुमराह के आसान कैच छोड़ने से उन्हें दो बार जीवनदान मिला।

इसके बाद, स्टोक्स ठाकुर की गेंद पर एक बड़ा शॉट लगाने के लिए बाहर निकले और बुमराह ने मिड-ऑफ पर एक शानदार डाइविंग कैच लिया, जिससे वह 25 रन बनाकर आउट हो गए। बेयरस्टो के साथ उनकी 66 रन की साझेदारी समाप्त हो गया।

पीटरसन ने स्काई स्पोर्ट्स पर लंच ब्रेक के दौरान कहा, “मैंने स्टोक्स को दबाव में खेलते देख रहा था और वह गेंद को हवा में मार रहे थे। यह लापरवाह बल्लेबाजी थी। यह आपके विकेट का बचाव नहीं कर रहा था। टेस्ट मैच में धैर्य और अनुशासन के साथ बल्लेबाजी की जाती है। उनका इस तरह से आउट होना अच्छा नहीं था।”

जॉनी बेयरस्टो, जो स्टोक्स के साथ कल से बल्लेबाज कर रहे थे, उन्होंने 113 गेंदों में नाबाद 91 रन बनाने के लिए अपने आक्रामक बल्लेबाजी शैली पर भरोसा किया। पीटरसन ने स्टोक्स को बेयरस्टो की बल्लेबाजी से सबक लेने की सलाह दी, जो शानदार बल्लेबाजी कर रहे हैं।

न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ब्रेंडन मैकुलम के मुख्य कोच के रूप में कार्यभार संभालने के बाद से शुरूआती सत्र में इंग्लैंड के आक्रामक इरादे के बारे में पूछे जाने पर, पीटरसन ने टिप्पणी की कि बेयरस्टो बल्ले से इंग्लैंड का अच्छे से नेतृत्व कर रहे हैं।

मैं बॉडी के पास खेलने की कोशिश कर रहा था: जडेजा

भारत के हरफनमौला खिलाड़ी रवींद्र जडेजा ने खुलासा किया कि एजबेस्टन में इंग्लैंड के खिलाफ पुनर्निर्धारित पांचवें टेस्ट की पहली पारी के दौरान 104 रन बनाते हुए वह खुद से कह रहे थे कि बॉडी के करीब खेलें और बाहर जाती गेंदों को ना छेड़ें। शनिवार को, दूसरे दिन के दौरान जडेजा ने भारत के बाहर अपना पहला टेस्ट शतक बनाया, जिसमें उनका शानदार 104 रन ऋषभ पंत के पहले दिन 146 के शानदार प्रदर्शन के साथ दूसरा शतक था। उनकी पारी में अनुशासन वाले शॉट थे, जिसने भारत को पहली पारी में 416 रन बनाने में मदद की।

ENG v IND, 5th Test: I was telling myself, don’t throw bat outside off-stump, play closer to the body, says Jadeja.

उन्होंने कहा, “मैं अपनी बल्लेबाजी का आनंद ले रहा था, खासकर इंग्लैंड आने पर, आपको खुद को इस तरह तैयार करना होगा क्योंकि इस तरह की परिस्थितियों में आप अपना बल्ला ऑफ स्टंप की गेंदों पर नहीं लगा सकते। आपको हमेशा शरीर के करीब खेलना होता है, इसलिए मैं यही करना चाह रहा था।”

जडेजा ने कहा तीसरे दिन की शुरूआत से पहले ब्रॉडकास्टर्स स्काई स्पोर्ट्स के लिए रवि शास्त्री से बातचीत में कहा, “मैं खुद से बात करता रहा था कि मुझे बाहर की गेंदों को नहीं खेलना है, लेकिन जो गेंद मेरे शरीर के पास आ रही थी, उसी पर शॉट मारने का प्रयास कर रहा था। मैं बस खुद से बात करता रहा और इससे मुझे बहुत मदद मिली क्योंकि इंग्लैंड में, यदि आप कवर ड्राइव खेलना चाहते हैं, तो आपका स्लिप में आउट होने का खतरा है।”

जडेजा ने पंत के साथ 222 रनों की साझेदारी की। यह भारत के लिए एक बहुत जरूरी साझेदारी थी। टीम एक समय में 98/5 पर पहुंच गई थी।

उन्होंने कहा, “इसके अलावा, मैं और ऋषभ पंत एक-दूसरे से बात कर रहे थे, जिसने हमें मदद की, क्योंकि जब मैं बल्लेबाजी कर रहा था, तो मुश्किल हालात थे और बीच में एक-दूसरे से बात करते रहे थे कि हम सभी जानते हैं कि पंत बल्ले से कितना आक्रामण है। मैं उनसे बस इतना कह रहा था कि ‘सुनिश्चित करें कि आपका शॉट चयन ठीक हो।”

जडेजा ने महसूस किया कि भारत को सिर्फ उन क्षेत्रों में गेंदबाजी करने की जरूरत है, जो कप्तान जसप्रीत बुमराह और तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने शनिवार को लगातार गेंदबाजी कर रहे थे।

Leave feedback about this

  • Service