August 18, 2022
Sports

विनेश फोगाट ने जीता गोल्ड

बमिर्ंघम, भारतीय पहलवान विनेश फोगाट ने 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में महिलाओं की 53 किग्रा स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता और शनिवार को यहां शीर्ष पोडियम फिनिश की हैट्रिक पूरी की।

27 वर्षीय विनेश ने दो बार की चैंपियन के रूप में बर्मिघम 2022 में प्रवेश किया और अपराजित होकर अपना तीसरा सीधा सीडब्ल्यूजी स्वर्ण सुनिश्चित किया। उसने ग्लासगो 2014 में 48 किग्रा और गोल्ड कोस्ट 2018 में 50 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता था।

बर्मिघम में महिलाओं के 53 किग्रा वर्ग में केवल चार पहलवानों के साथ, एकल-चरण नॉर्डिक समूह प्रणाली के माध्यम से पदक तय किए गए, जिसमें सभी पहलवानों ने एक बार एक-दूसरे का सामना किया। मैचों के क्रम के बाद ग्रुप टॉपर ने स्वर्ण पदक जीता जबकि दूसरे और तीसरे स्थान पर रहने वाले पहलवानों ने क्रमश: रजत और कांस्य पदक जीता।

विश्व चैंपियनशिप 2021 की कांस्य पदक विजेता सामंथा स्टीवर्ट, नाइजीरिया की मर्सी बोलाफुनोलुवा अदेकुओरोये और श्रीलंका की चामोद्या केशानी मदुरावलगे डॉन डिवीजन में प्रतिस्पर्धा करने वाले अन्य पहलवान थे।

मर्सी तीन बार के राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन ओडुनायो अदेकुओरोये की छोटी बहन हैं, जिन्होंने शुक्रवार को विनेश की हमवतन अंशु मलिक को हराकर महिलाओं का 57 किग्रा स्वर्ण पदक जीता।

सामंथा स्टीवर्ट के खिलाफ अपने पहले मुकाबले में, विनेश ने कनाडाई को एक हेडलॉक में पकड़ा। मुकाबला लगभग 30 सेकंड तक चला। अदेकुओरोये के खिलाफ दूसरे मुकाबले में भारतीय ने पूरे छह मिनट तक मैट पर 6-0 से जीत हासिल की। जीत का मतलब था कि भारतीय पहलवान का पहले से ही स्वर्ण पदक पर एक हाथ था।

अब औपचारिकता की बात थी, विनेश ने क्लीन स्वीप पूरा किया, चामोद्या केशानी मदुरवलगे डॉन को हराकर टूर्नामेंट को एक रिकॉर्ड के साथ समाप्त किया।

यह पदक भारतीय पहलवान के लिए एक बड़ा बूस्टर है, जिसने टोक्यो ओलंपिक में निराशाजनक प्रदर्शन किया था और क्वार्टर फाइनल में बाहर हो गईं थी। वह तब से फॉर्म और फिटनेस को लेकर संघर्ष कर रही थीं।

Leave feedback about this

  • Service