August 16, 2022
Sports

भारतीय निशानेबाजी टीम ने विश्व कप की तैयारी शुरू की

नई दिल्ली, एथलीटों और सहयोगी स्टाफ सहित 49 सदस्यीय भारतीय निशानेबाजी टीम वर्ष के अंतिम आईएसएसएफ विश्व कप की शुरुआत (9 से 21 जुलाई) कोरिया के चांगवोन में मुकाबला करेगी, साथ ही उनकी नजर विश्व चैंपियनशिप पर रहेगी, जो सितंबर क्रमश: क्रोएशिया और मिस्र में होगी। ट्रैप निशानेबाजों के साथ 10 मीटर राइफल और पिस्टल गुरुवार को कोरिया पहुंचने वाले तीन बैचों में से पहले होंगे।

भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) के महासचिव के सुल्तान सिंह ने टीम के जाने से पहले बधाई देते हुए कहा, “टूर्नामेंट से पहले आयोजित राष्ट्रीय शिविर में कड़े प्रशिक्षण के बाद टीम अच्छी तरह से तैयार है। यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है। विश्व चैंपियनशिप को ध्यान में रखते हुए अगली तैयारी होगी। हम टीम को शुभकामनाएं देते हैं।”

ओलंपियन और मौजूदा एशियाई खेलों की चैम्पियन राही सरनोबत चैंगवोन विश्व कप से बाहर हो जाएंगे। 18 सदस्यीय सहयोगी स्टाफ के हिस्से के रूप में ऑस्ट्रेलिया के उच्च प्रदर्शन प्रबंधक लॉरिन मार्क सहित पांच नव-नियुक्त विदेशी कोच छह राष्ट्रीय मुख्य कोचों के साथ होंगे। यह टीम के साथ विदेशी कोचों का पहला टूर्नामेंट असाइनमेंट होगा।

टीम में कई नए चेहरे हैं, लेकिन स्थापित अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजों में, मैराज अहमद खान, पृथ्वीराज तोंडईमन, संजीव राजपूत, चैन सिंह, अंजुम मौदगिल, मनु भाकर, ऐश्वर्या तोमर, अनीश भानवाला, इलावेनिल वलारिवन, मेहुली घोष, ईशा सिंह और विवान कपूर शामिल हैं।

सभी 15 ओलंपिक स्पर्धाओं सहित राइफल, पिस्टल और शॉटगन विषयों में चांगवोन में कुल 30 स्वर्ण पदक होंगे। यह इस वर्ष के अंत में आईएसएसएफ विश्व चैंपियनशिप से पहले विश्व स्तरीय अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता प्राप्त करने के लिए टीम का आखिरी मौका होगा, जिसे खेल में उपलब्धि का शिखर माना जाता है।

44 देशों के 432 से अधिक एथलीट चांगवोन इंटरनेशनल शूटिंग रेंज में शुरुआत करेंगे।

भारत ने शुरू में चांगवोन विश्व कप को छोड़ने की योजना बनाई थी, लेकिन चीन में एशियाई खेलों के स्थगित होने से योजनाओं में बदलाव आया।

Leave feedback about this

  • Service