December 3, 2022
World

भारत व पाकिस्तान से चुराई गईं प्राचीन वस्तुएं लौटाई गई

न्यूयॉर्क, न्यूयॉर्क के सरकारी वकील एल्विन ब्रैग ने बताया है कि तस्कर सुभाष कपूर के नेटवर्क द्वारा भारत व पाकिस्मान से लाई गईं सैकड़ों प्राचीन मूर्तियों और अन्य सामानों को उन देशों को लौटा दिया गया है। इनमें से कुछ तो 5,500 साल पुरानी हैं।

मैनहट्टन स्थित ब्रैग के कार्यालय से कहा गया कि भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, कंबोडिया, इंडोनेशिया, म्यांमार, नेपाल, श्रीलंका, थाईलैंड आदि से कपूर नेटवर्क प्राचीन वस्तुएं अमेरिका लाई गई थीं। भारत से लाए गए 235 पुरावशेष जब्त किए गए थे।

कार्यालय ने कहा कि तस्करी के सामान कपूर की आर्ट ऑफ द पास्ट गैलरी के माध्यम से मैनहट्टन में बेचे गए थे।

इनमें 12वीं या 13वीं शताब्दी की संगमरमर की मूर्ति येल यूनिवर्सिटी की आर्ट गैलरी द्वारा लौटा दी गई थी।

ब्रैग ने कहा, ये पुरावशेष तस्कर गिरोहों द्वारा चुराए गए थे।

अब कंबोडिया, मिस्र, इजराइल और इटली आदि देशों को उनकी कलाकृतियों को लौटाया जा रहा है।

ब्रैग के कार्यालय के अनुसार पिछले महीने एक समारोह में भारत के महावाणिज्यदूत रणधीर जायसवाल को लगभग 4 मिलियन डॉलर मूल्य की 307 वस्तुएं सौंपी गईं।

कार्यालय ने कहा कि नैन्सी वीनर और उनकी दिवंगत मां डोरिस वीनर द्वारा जांच के दौरान पांच भारतीय पुरावशेष जब्त किए गए थे।

कार्यालय ने कहा कि उनके पास से मध्य भारत के एक मंदिर से लूटी गई 11वीं शताब्दी की गरुड़ के साथ भगवान विष्णु और देवी लक्ष्मी की मूर्ति जब्त की गई है।

कंबोडिया के एक मंदिर से लूटी गई भगवान विष्णु की एक बलुआ पत्थर की मूर्ति भी लौटाई गई।

अभियोजक के कार्यालय ने कहा कि नायेफ होम्सी की जांच के दौरान पता चला कि भारत से 66 सामान चुराकर लाया गया था।

2011 में शुरू हुई एक दशक से अधिक की जांच के दौरान कपूर और उसके नेटवर्क से 143 मिलियन डॉलर से अधिक मूल्य के 2,500 से अधिक आइटम जब्त किए गए थे।

ब्रैग ने कहा, कपूर दुनिया के सबसे विपुल पुरावशेष तस्करों में से एक थे, फिर भी हमारे समर्पित जांचकर्ताओं और विश्लेषकों के काम के लिए धन्यवाद, हम उनके नेटवर्क द्वारा लूटे गए हजारों टुकड़ों को फिर से प्राप्त करने में सक्षम हैं।

कपूर और उनके पांच साथियों को इस माह की शुरुआत में तमिलनाडु के कुंभकोणम की एक विशेष अदालत द्वारा मंदिरों से पवित्र मूर्तियों को चुराने के आरोप में दोषी ठहराया था।

ऑपरेशन हिडन आइडल नामक एक ऑपरेशन के तहत 2011 में जर्मनी में गिरफ्तार कपूर को 10 साल की सजा सुनाई गई है।

अभियोजक के कार्यालय ने कहा कि कपूर और उसके पांच साथियों के लिए न्यूयॉर्क की अदालत द्वारा वारंट जारी किया गया है।

उनके कार्यालय ने कहा कि पिछले सप्ताह 3.4 मिलियन डॉलर मूल्य की 192 मूर्तियों को पाकिस्तान लौटा दिया और उनमें से 187 कपूर से बरामद की गईं।

इनमें 3500-2600 ईसा पूर्व की मेहरगढ़ की गुड़िया शामिल है। जिसे पाकिस्तान में मेहरगढ़ से चुराया गया था।

एक अन्य भगवान बुद्ध के मैत्रेय रूप को दशार्ती एक मूर्ति जो गंधारन काल 1000 से 2000 ईसा पूर्व की थी, उसे जब्त किया गया। इसे जाहिद परवेज और जीशान बट के नेटवर्क द्वारा चुराया गया था।

नेटवर्क ने अफगानिस्तान, पाकिस्तान और भारत सहित कई देशों से प्राचीन वस्तुएं चुराई थीं।

Leave feedback about this

  • Service