December 2, 2022
World

भारत, श्रीलंका ने 1.5 करोड़ डॉलर की परियोजनाओं में तेजी लाने के लिए जताई सहमति

कोलंबो,  भारत और श्रीलंका 1.5 करोड़ डॉलर के विशेष भारतीय अनुदान के तहत बौद्ध संबंधों को बढ़ावा देने सहित परियोजनाओं में तेजी लाने पर सहमत हुए हैं। कोलंबो में भारतीय उच्चायोग ने कहा कि उच्चायुक्त गोपाल बागले और बुद्धशासन, धार्मिक और सांस्कृतिक मामलों के मंत्री विदुर विक्रमनायक ने बौद्ध संबंधों को बढ़ावा देने और जाफना सांस्कृतिक केंद्र (जेसीसी) के कामकाज सहित संयुक्त रूप से पहचान की गई प्राथमिकता वाली परियोजनाओं में तेजी लाने के लिए मंगलवार को बातचीत की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 26 सितंबर, 2020 को वर्चुअल द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन में द्विपक्षीय बौद्ध संबंधों को बढ़ावा देने के लिए विशेष अनुदान की घोषणा की थी और इसी साल मार्च में विदेश मंत्री एस जयशंकर की कोलंबो यात्रा के दौरान संबंधित समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे।

पूजा स्थलों और पिरीवेना या स्कूलों में, जहां भिक्षुओं को अनुदान से देश भर में प्रशिक्षित किया जाता है, वहां सौर ऊर्जा सुविधाओं की स्थापना पर चर्चा हुई।

उन्होंने कहा, “ये परियोजनाएं श्रीलंकाई समाज के सभी वर्गो की मांगों और जरूरतों और श्रीलंका सरकार की प्राथमिकताओं द्वारा निर्देशित हैं।”

अब तक, भारत द्वीपीय राष्ट्र में 85 से अधिक अनुदान परियोजनाओं के कार्यान्वयन से जुड़ा हुआ है और नवीनतम प्रयासों में श्रीलंका अद्वितीय डिजिटल पहचान परियोजना शामिल है।

Leave feedback about this

  • Service