June 23, 2024
National

अग्निवीर योजना को लेकर राहुल के बयान पर अमित शाह ने हिमाचल में मीडिया के सामने बोला हमला, बताई योजना की सच्चाई

हमीरपुर, 25 मई । देश में छठे चरण के चुनाव के लिए मतदान हो रहा है। इस सबके बीच राहुल गांधी के बार-बार सेना के अग्निवीर योजना को लेकर दिए गए बयान ने राजनीति का तापमान बढ़ा दिया है।

चुनाव आयोग की तरफ से जारी गाइडलाइंस के हिसाब से राजनीतिक दलों को अग्निवीर योजना पर टिप्पणी करने की मनाही है। लेकिन, राहुल गांधी लगातार इस पर टिप्पणी कर रहे हैं। जिसे लेकर हिमाचल में चुनाव प्रचार अभियान के दौरान मीडिया के सामने आकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जमकर राहुल गांधी पर निशाना साधा।

दरअसल, राहुल गांधी ने चुनाव प्रचार के दौरान कई बार इस बात को दोहराया कि इंडी गठबंधन की सरकार आने के बाद अग्निवीर योजना को कूड़ेदान में डाल दिया जाएगा।राहुल गांधी ने इस योजना को लेकर कहा कि यह सेना के खिलाफ है। इस योजना को लेकर सेना नहीं आई बल्कि इसे नरेंद्र मोदी लाए, इसलिए हम इसे खत्म करेंगे।

इसी को लेकर अमित शाह ने हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र के ऊना जनपद में मीडिया के सामने अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि जब से राहुल गांधी नेता बने हैं, उनकी राजनीति में एक बड़ा परिवर्तन आया है। पहले सच्चे मुद्दों को तोड़-मरोड़ कर लोगों के सामने रखा जाता था। इतना तो राजनीतिक दल करते थे। लेकिन, कभी भी झूठी बात को मुद्दा नहीं बनाया जाता था। राहुल गांधी ने एक नई परंपरा शुरू की कि झूठी बात को ही मुद्दा बनाया जाए।

अमित शाह ने आगे कहा कि अग्निवीर योजना को लेकर भी उन्होंने देशभर में एक भ्रांति फैलाई। जिसमें कहा गया कि इस योजना से आए 75 प्रतिशत अग्निवीरों का 4 साल के बाद कोई भविष्य ही नहीं होगा। जबकि, इस योजना के तहत 100 बच्चे जो अग्निवीर बनते हैं, उसमें से 25 बच्चे तो सीधे सेना में भर्ती हो जाएंगे। बाकी के 75 युवा जो बचे हैं, इसको लेकर भाजपा शासित सभी प्रदेश की सरकारों ने 10 से 20 प्रतिशत तक सीटें आरक्षित की हैं। इसके साथ ही केंद्र सरकार की सभी पैरामिलिट्री फोर्सेस में भी 10 प्रतिशत रिजर्वेशन इनके लिए किया गया है।

गृह मंत्री ने आगे कहा कि अग्निवीर योजना से जुड़े युवाओं को सेलेक्शन प्रोसेस में भी कई तरह की रियायतें, इन रिजर्वेशन के बाद भी दी गई हैं। जैसे उम्र में रियायत, इसके साथ परीक्षा में कुछ छूट दी गई है। इन्हें फिजिकल टेस्ट भी नहीं देना है। इतनी रियायतों के बाद शायद ही कोई अग्निवीर ऐसा बचेगा, जो स्टेट की पुलिस फोर्स और सेंट्रल पैरामिलिट्री में ना आए।

गृह मंत्री ने इसके साथ ही कहा कि इसके बाद भी ढेर सारे प्राइवेट सिक्योरिटी एजेंसी ने भी अग्निवीर के लिए प्राथमिकता तय की है। अब एक युवा चार साल सरकारी खर्चे से ट्रेनिंग करेगा। 4 साल उसे भारी तनख्वाह भी मिलेगी। इस चार साल के बाद उसे पेंशननुमा ग्रेच्युटी वाली पूरे जीवन की नौकरी भी मिलेगी। क्या इसमें किसी का नुकसान होने वाला है।

उन्होंने आगे कहा कि राहुल गांधी अपनी पार्टी के फायदे के लिए सरासर झूठ लोगों के बीच फैला रहे हैं और जनता को गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि नौकरी सभी को मिलनी है या तो सेना की मिलनी है, या स्टेट पुलिस की मिलनी है, या पैरामिलिट्री फोर्सेस की मिलनी है। पेंशन सबको मिलना है और ग्रेच्युटी भी सबको मिलनी है और सारे सरकारी फायदे भी मिलने हैं।

Leave feedback about this

  • Service