June 23, 2024
Haryana

भाजपा ने विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया शुरू की

रोहतक, 9 जून रोहतक लोकसभा सीट हारने के बाद भाजपा नेतृत्व ने न केवल आगामी विधानसभा चुनावों के लिए जिताऊ उम्मीदवारों पर ध्यान केंद्रित करना शुरू कर दिया है, बल्कि टिकट चाहने वालों ने भी अपने लिए लॉबिंग शुरू कर दी है।

सूत्रों के अनुसार, नवीनतम घटनाक्रम में भाजपा के राज्य नेतृत्व ने स्थानीय नेताओं से रोहतक के सभी चार विधानसभा क्षेत्रों के लिए उपयुक्त उम्मीदवारों के नाम और उनके राजनीतिक करियर का विवरण मांगा है।

दिलचस्प बात यह है कि भाजपा उम्मीदवार डॉ. अरविंद शर्मा को भी उपयुक्त विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ाने पर विचार कर रहे हैं, जिन्होंने हाल ही में रोहतक से लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

नाम न बताने की शर्त पर एक वरिष्ठ भाजपा नेता ने बताया, “लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद पार्टी नेतृत्व अक्टूबर में होने वाले विधानसभा चुनाव में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता है, इसलिए उसने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। संपत्ति और पारिवारिक पहचान-पत्र में खामियों और हाल के चुनावों के दौरान देखी गई कमियों को दूर करने से जुड़े सभी ज्वलंत मुद्दों के समाधान के लिए एक खाका तैयार किया जा रहा है।”

उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के लिए टिकट चाहने वालों ने रोहतक में पार्टी के राज्य मुख्यालय में राज्य स्तर के पदाधिकारियों से मिलना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा, “मुझे रोहतक में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए चार नेताओं के नाम उनकी पृष्ठभूमि के साथ देने का काम भी सौंपा गया है। इसी तरह के काम अन्य स्थानीय नेताओं को भी दिए गए हैं ताकि पार्टी टिकट के लिए विचार करने के लिए आम नामों को चुना जा सके।”

रोहतक जिले में चार विधानसभा क्षेत्र हैं- रोहतक, गढ़ी सांपला-किलोई, कलानौर (रिजर्व) और महम। चार में से तीन सीटों पर कांग्रेस के विधायक हैं, जबकि निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू विधानसभा में महम का प्रतिनिधित्व करते हैं।

रोहतक में पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर पार्टी टिकट के प्रबल दावेदार हैं, जबकि रोहतक नगर निगम के निवर्तमान महापौर मनमोहन गोयल और अन्य भाजपा नेता अजय बंसल और अशोक खुराना भी टिकट के दावेदारों में शामिल हैं।

भाजपा के प्रदेश मीडिया सह-प्रभारी शमशेर खरक ने कहा, “रोहतक विधानसभा सीट भाजपा के लिए बहुत मायने रखती है, क्योंकि यहां पार्टी का अच्छा जनाधार है। इसके अलावा, रोहतक पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा का गृह जिला है, इसलिए पार्टी इस बार रोहतक सीट कांग्रेस से छीनने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। यहां विधानसभा चुनाव से जुड़ी गतिविधियां पहले ही शुरू हो चुकी हैं।”

Leave feedback about this

  • Service