June 24, 2024
Himachal

चंबा का मिंजर मेला 28 जुलाई से, सांस्कृतिक समावेश पर रहेगा जोर

चंबा, 11 जून हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने कहा कि मक्के के फूल खिलने का प्रतीक अंतर्राष्ट्रीय मिंजर मेला इस वर्ष 28 जुलाई से 1 अगस्त तक आयोजित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस वर्ष यह मेला, जो कि चम्बा जिले की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का हिस्सा है, सांस्कृतिक समावेश पर ध्यान केन्द्रित करेगा, जिससे इसकी भव्यता और दायरा और अधिक बढ़ेगा।

हाल ही में महोत्सव की तैयारी की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए पठानिया ने कहा कि प्रतिभावान स्थानीय कलाकारों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए, ताकि जिले की समृद्ध लोक कला और संस्कृति को प्रमुखता मिल सके।

अध्यक्ष ने आयोजन समिति को स्थानीय कलाकारों का पारिश्रमिक बढ़ाने का निर्देश दिया। उन्होंने आश्वासन दिया कि राज्य सरकार अंतर्राष्ट्रीय मेले के भव्य आयोजन के लिए हर संभव सहायता प्रदान करेगी।

विधायक नीरज नायर ने जिले के प्रमुख धरोहर स्थल ऐतिहासिक चौगान मैदान के रखरखाव के महत्व पर प्रकाश डाला और मेले के बाद इसके रखरखाव के लिए आवश्यक कदम उठाने की बात कही। नायर ने सांस्कृतिक संध्याओं के लिए स्टार कलाकारों के चयन के लिए दिशा-निर्देश भी दिए।

उपायुक्त मुकेश रेपसवाल, जो आयोजन समिति के अध्यक्ष भी हैं, ने बताया कि परंपरा के अनुसार मेले का उद्घाटन राज्यपाल करेंगे, जबकि समापन समारोह में मुख्यमंत्री मुख्य अतिथि होंगे।

उपायुक्त ने कहा कि मिंजर जुलूस को और अधिक भव्य बनाने के लिए स्थानीय संस्कृति के अनुरूप देवी-देवताओं की पालकियां, झंडे, वाद्य यंत्र तथा पारंपरिक परिधान उपलब्ध करवाए जाएंगे। बैठक में मेले के दौरान आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों पर विस्तृत चर्चा की गई।

राज्यपाल करेंगे कार्यक्रम का उद्घाटन आयोजन समिति के अध्यक्ष एवं उपायुक्त मुकेश रेपसवाल ने बताया कि परंपरा के अनुसार मेले का उद्घाटन राज्यपाल करेंगे, जबकि समापन समारोह में मुख्यमंत्री मुख्य अतिथि होंगे। उपायुक्त ने बताया कि स्थानीय संस्कृति के अनुरूप देवी-देवताओं की पालकी, झंडे, वाद्य यंत्र और पारंपरिक परिधान उपलब्ध कराए जाएंगे।

Leave feedback about this

  • Service