July 18, 2024
National

साजिश करके जेल भेजा गया था, लंबी लड़ाई लड़कर आपके सामने हूं : हेमंत सोरेन

रांची, 5 जुलाई । झारखंड के 13वें सीएम के रूप में शपथ ग्रहण के साथ ही हेमंत सोरेन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक वीडियो संदेश जारी कर कहा है कि उनकी सरकार रुके हुए विकास कार्यों को रफ्तार देगी।

उन्होंने कहा कि आज मैं पुन: आपके सामने हूं। 2019 में आप सब लोगों ने मुझे राज्य को एक दिशा देने के लिए, आपकी सेवा करने का मौका दिया था। लेकिन, षड्यंत्रकारियों को यह पचा नहीं कि एक आदिवासी नौजवान इतने ऊंचे पद पर रहे। अंतत: 31 जनवरी को इन लोगों ने बेबुनियाद आरोपों पर, झूठे मुकदमे बनाकर मुझे मुख्यमंत्री के पद से हटने के लिए मजबूर कर दिया। पांच महीने तक इन लोगों ने मुझे अलग-अलग तरीके से लंबे समय तक जेल में रखने का प्रयास किया। हमने भी कानूनी लड़ाई का रास्ता चुना।

सोरेन ने जनता का आभार जताते हुए कहा कि सड़कों पर आपने हमें भरपूर सहयोग दिया। अंतत: न्याय के आदेश के अनुरूप आपके बीच हूं। भगवान के घर में अंधेर नहीं रहता है। कहीं न कहीं आज आप लोगों की दुआ और आपका आशीर्वाद मिला। झारखंड एकता का जो परिचय आपने दिया है, उसके लिए हम आपके सदैव ऋणी रहेंगे। हमने पहले भी कहा है कि हम झारखंड प्रदेश और यहां के आदिवासी, पिछड़े, दलित, किसान, मजदूर की आवाज हैं। लड़कर झारखंड लिया है। गरीबों को कभी किसी ने प्यार से कुछ नहीं दिया, उन्हें हमेशा संघर्ष करना पड़ा है।

हेमंत सोरेन ने कहा कि जब आपने हमें सेवा करने का मौका दिया, तो हमने अनवरत आपके दरवाजे तक पहुंचने की कोशिश की। लेकिन, इन लोगों ने एड़ी-चोटी का जोर लगाकर हमारे कदमों को कुछ देर के लिए रोक दिया। हम फिर आपके बीच आ रहे हैं। आपका हक-अधिकार आप तक पहुंचाने का मेरा प्रयास रहेगा। मेरा हर एक निर्णय यहां के मूलवासी-आदिवासियों, दबे-कुचले, शोषित-पिछड़े वर्गों के लिए होगा।

Leave feedback about this

  • Service