June 21, 2024
World

माउंट अन्नपूर्णा से बचाई गई भारतीय महिला पर्वतारोही ने लोगों को प्रार्थनाओं के लिए दिया धन्यवाद

काठमांडू रिकॉर्डधारक भारतीय महिला पर्वतारोही बलजीत कौर, जिन्हें इस सप्ताह माउंट अन्नपूर्णा से बचाया गया था और वर्तमान में काठमांडू के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है, ने उन सभी को धन्यवाद दिया है, जिन्होंने उनकी सलामती के लिए प्रार्थना की। वह 17 अप्रैल को दुनिया की 10वीं सबसे ऊंची चोटी के शिखर बिंदु से नीचे उतरते समय लापता हो गईं थी और मान लिया गया था कि वह मर चुकी हैं। लेकिन अगले दिन वह जिंदा पाई गईं। शुक्रवार को एक ट्वीट में 27 वर्षीय बलजीत कौर ने कहा, जय हिंद, मैं आप सभी को अपने दिल की गहराई से धन्यवाद देना चाहती हूं जो उस कठिन समय के दौरान प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से मेरे साथ थे जिसका मैंने सामना किया। आपकी प्रार्थना और आशीर्वाद के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

हिमाचल प्रदेश की इस पर्वतारोही ने कई उपलब्धियां अर्जित की हैं।

उन्होंने बिना ऑक्सीजन के माउंट मनास्लू पर चढ़ने वाली पहली भारतीय महिला और बिना ऑक्सीजन के माउंट मनास्लु पर चढ़ने वाली सबसे कम उम्र की महिला का रिकॉर्ड तोड़ा।

वह दुनिया में छह 8,000 मीटर की चोटियों पर चढ़ने वाली पहली भारतीय और दुनिया में छह 8,000 मीटर की चोटियों (5 महीने 2 दिन) पर सबसे तेज चढ़ाई करने वाली भारतीय भी हैं।

Leave feedback about this

  • Service