July 16, 2024
National

उत्तराखंड में मानसून के दौरान ग्राम प्रहरियों को एक्टिव करने के निर्देश

देहरादून, 4 जुलाई । उत्तराखंड के कई इलाकों में मानसून के कारण भारी बारिश हो रही है। मौसम विभाग के बारिश को लेकर जारी किए गए पूर्वानुमान को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग ने ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम प्रहरियों को एक्टिव करने का फैसला लिया है।

उत्तराखंड में इस मानसून सीजन के सामान्य से अधिक प्रभावी होने का अनुमान लगाया जा रहा है। प्रदेश में सामान्य से ज्यादा बारिश दर्ज की जा रही है। कुमाऊं में चार दिन तक भारी बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है।

उत्तराखंड मौसम निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि अगले चार से छह दिनों तक प्रदेश के सभी जिलों में बारिश होने की संभावना है। कुमाऊं के पहाड़ों से लगने वाले मैदानी क्षेत्र में सामान्य से अधिक बारिश देखी जा रही है। बारिश के कारण कुमाऊं के पहाड़ी जनपदों में भी परेशानियां बढ़ सकती है। चुनौतियों को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग ने रात के समय ग्राम प्रहरियों को एक्टिव करने को लेकर सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

दरअसल, दिन के समय आपदाओं से बचा जा सकता है। लेकिन, रात के समय आने वाली आपदा से सबसे ज्यादा जानमाल का नुकसान होता है। इसलिए रात के समय में ग्राम प्रहरियों को एक्टिव किया जा रहा है।

मौसम विभाग का कहना है कि कुमाऊं के साथ-साथ गढ़वाल में यह सप्ताह चुनौती भरा हो सकता है। रात के समय में ज्यादा चुनौतियां देखने को मिल सकती है। मौसम विभाग निदेशक ने कहा कि अभी तक हमारे पास कोई सायरन सिस्टम नहीं है। हमें मैन्युअल तरीके से स्थानीय लोगों के साथ मिलकर कुछ ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए, जिससे रात के समय आने वाली आपदा के प्रति लोगों को अलर्ट किया जा सके।

Leave feedback about this

  • Service