July 16, 2024
National

राजनीतिक षड्यंत्र का शिकार हुए केजरीवाल, सुनीता केजरीवाल ने किया दावा

नई दिल्ली, 6 जुलाई । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बचाव में उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल का बयान सामने आया है। अपने वीडियो में सुनीता केजरीवाल ने मागुंटा श्रीनिवास रेड्डी (एमएसआर) के बयान की कहानी सुनाई है। सुनीता केजरीवाल ने बताया कि अरविंद केजरीवाल को मगुंटा श्रीनिवासुलु रेड्डी यानी एमएसआर की झूठी गवाही पर गिरफ्तार किया गया।

सुनीता केजरीवाल ने कहा कि रेड्डी एनडीए के सांसद हैं और आंध्र प्रदेश से आते हैं। मगुंटा रेड्डी ने ईडी के सामने झूठा बयान दिया। पहले उन्होंने खुद कहा था कि उनकी 16 मार्च, 2021 को अरविंद केजरीवाल से पहली और आखिरी बार दिल्ली सचिवालय में मुलाकात हुई थी। मगुंटा दिल्ली में एक चैरिटेबल फैमिली ट्रस्ट खोलना चाहते थे। जिसके लिए जमीन के सिलसिले में उन्होंने अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की थी।

सुनीता केजरीवाल ने बताया कि इस मुलाकात के दौरान अरविंद केजरीवाल ने एमएसआर (मगुंटा रेड्डी) से कहा था कि जमीन का मामला एलजी के पास है। आप एप्लीकेशन दे दीजिए फिर भी हम देखते हैं कि क्या किया जा सकता है। इतना कहकर अरविंद केजरीवाल चले गए थे।

सुनीता केजरीवाल के मुताबिक एमएसआर ने ईडी को जब अपना यह बयान बताया तो ईडी को उनका यह जवाब बिल्कुल पसंद नहीं आया। इसके बाद उनके बेटे को दोबारा गिरफ्तार कर लिया गया। एमएसआर अपना पहले वाला बयान ही दोहराते रहे क्योंकि वह सच था और उनके बेटे राघव रेड्डी की बेल कैंसिल होती गई।

सुनीता केजरीवाल ने कहा है कि इस दौरान राघव की पत्नी ने आत्महत्या करने की भी कोशिश की और उनकी बूढ़ी मां बीमार हो गई। इन सबको देखते हुए राघव का पिता टूट गए। 17 जुलाई 2023 को पिता एमएसआर ने ईडी में अपना बयान बदल दिया। इस बार अपने बयान में एमएसआर ने कहा, “मैं दिल्ली में जब अरविंद केजरीवाल से मिला था तो उनके कमरे में 10-12 लोग बैठे हुए थे। मैं कमरे के अंदर घुसा तो उन्होंने मुझसे कहा कि आप दिल्ली में शराब का व्यापार शुरू करो और बदले में आम आदमी पार्टी को 100 करोड़ रुपए दे दो। एमएसआर के मुताबिक उनकी यह पहली और आखिरी मुलाकात थी अरविंद केजरीवाल के साथ। उनके इस बयान के बाद ईडी ने अगले ही दिन राघव रेड्डी की बेल करवा दी।”

इस पर सुनीता केजरीवाल ने सवाल उठाते हुए कहा कि क्या कोई पहली बार में ही एक अनजान व्यक्ति से सबके सामने पैसे मांग लेगा? मंगुटा रेड्डी के बेटे और परिवार को 5 महीने तक प्रताड़ित किया गया और इसके बाद एमएसआर ने ईडी को झूठा बयान दिया। कोर्ट ने भी केजरीवाल को जमानत देते हुए कहा कि मंगुटा रेड्डी को बेल का लॉलीपॉप दिया गया।

सुनीता केजरीवाल के मुताबिक अरविंद केजरीवाल को राजनीतिक षड्यंत्र का शिकार बनाया गया है। वह एक पढ़े-लिखे और कट्टर ईमानदार व्यक्ति हैं और आज हमें उनके साथ खड़े होने की आवश्यकता है।

Leave feedback about this

  • Service