June 23, 2024
National

हैट्रिक ही नहीं आंकड़ों में भी भाजपा अव्वल, तीन दशकों में अकेले 240 सीट नहीं जीत सकी कोई पार्टी

नई दिल्ली, 7 जून । लोकसभा चुनाव 2024 के परिणाम ने सबको चौंका दिया। एक तरफ इंडिया गठबंधन ने इस चुनाव में अच्छा प्रदर्शन किया। दूसरी तरफ भाजपा नीत एनडीए गठबंधन ने पूर्ण बहुमत का 272 वाला जादुई आंकड़ा भी पार कर लिया। एनडीए के खाते में 292 सीटें आई हैं। जबकि, इंडिया गठबंधन के घटक दलों ने 234 सीटों पर जीत दर्ज की।

वहीं, अन्य के खाते में 17 सीटें आई। भाजपा 2024 के लोकसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। भाजपा ने 240 सीटों पर जीत हासिल की है। हालांकि, 2019 के मुकाबले 63 सीट कम है। पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने ऐतिहासिक रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज करवाया है।

तीसरे कार्यकाल में भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार बनने जा रही है। इसके साथ नरेंद्र मोदी लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेकर जवाहर लाल नेहरू के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे।

कांग्रेस ने सबसे ज्यादा समय तक देश में शासन किया। लेकिन, चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, कांग्रेस पार्टी पिछले तीन दशकों में भाजपा के 240 के आंकड़े को भी नहीं छू पाई है।

चुनाव आयोग के अनुसार, साल 1989 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को सिर्फ 197 सीटें प्राप्त हुई थी। उस वक्त कांग्रेस ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नेतृत्व में चुनाव लड़ा था। साल 1991 के हुए 10वीं लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने 232 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

साल 1996 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में 161 और कांग्रेस 140 सीटों पर जीत मिली थी। साल 1998 में एक बार फिर भाजपा कुल 543 लोकसभा सीटों में से 182 सांसदों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी। वहीं, देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस को 141 सीटें मिली थी।

साल 1999 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 182 सीटों पर जीत दर्ज की और कांग्रेस की सीटें घटकर 114 पर पहुंच गई।

साल 2004 के हुए चुनाव में कांग्रेस सत्‍ता पर काबिज हुई और यूपीए गठबंधन के तहत सरकार चलाई। लेकिन, चुनाव में कांग्रेस के खाते में 145 सीटें ही आई थी।

साल 2009 में दोबारा कांग्रेस सत्‍ता में आई और पार्टी ने 206 सीटों जीती। हालांकि, कांग्रेस का आंकड़ा भी भाजपा के 240 से काफी पीछे रहा।

साल 2014 में भाजपा ने नरेंद्र मोदी की अगुवाई में चुनाव लड़ा और पार्टी ने अकेले 282 सीटें जीती। वहीं, कांग्रेस महज 44 सीटों पर सिमटकर रह गई।

साल 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने रिकॉर्ड तोड़ 303 सीटों पर जीत दर्ज की। कांग्रेस 52 सीटें ही जीत पाई। इतना ही नहीं कांग्रेस मुख्य विपक्षी पार्टी भी मुश्किल से बनी। इस साल हुए लोकसभा चुनाव के नतीजे भी सामने आ चुके हैं। भाजपा के खाते में 240 सीटें आई हैं। वहीं, कांग्रेस को 99 सीटें ही मिल पाई।

Leave feedback about this

  • Service