July 8, 2024
National

गोल्डन पासवान हत्याकांड के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा, होगी सख्त कार्रवाई: चिराग पासवान सीवान, 7 जुलाई (आईएएनएस)। न्यायालय कर्मी राकेश कुमार उर्फ गोल्डन पासवान की हत्या के बाद लोजपा (रामविलास ) सुप्रीमो और केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री चिराग पासवान सीवान पहुंचे। उन्होंने गोल्डन के परिजनों से मुलाकात की और भरोसा दिलाया कि उन्हें न्याय मिलेगा। केंद्रीय मंत्री ने गोल्डन पासवान हत्याकांड के आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग पुलिस प्रशासन से की है। मृतक की बहन से बात करने के दौरान चिराग पासवान ने सीवान एसपी को तुरंत कॉल भी लगाई और अल्टीमेटम भी दिया। उन्होंने कहा कि अपराधियों की पहचान कर सात दिनों के अंदर कार्रवाई हो जानी चाहिए। इस मामले को मैनें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के संज्ञान में दिया है। मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए चिराग पासवान ने कहा, ” इस मामले में पुलिस प्रशासन काफी सुस्त दिख रही है। अगर इस मामले में पुलिस प्रशासन के लोग भी दोषी होंगे तो उन पर भी कार्रवाई होगी। कोई भी दोषी बख्शा नहीं जाएगा। जिस तरह से राकेश कुमार (गोल्डन पासवान) की बेरहमी से हत्या की गई, इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने भी कुछ दिन पहले हमसे मुलाकात की थी। हमने पूरी जानकारी जुटाकर मुख्यमंत्री को भी उपलब्ध कराने का काम किया है।” बता दें कि19 जून 2024 को न्यायालय कर्मी राकेश कुमार उर्फ गोल्डन पासवान अपनी बहन को परीक्षा दिलाने गया हुआ था। जब वह बाइक से वापस लौट रहा था तो अपराधियों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी। गोल्डन के परिवार वाले हत्याकांड की मुख्य वजह जमीन विवाद बता रहे हैं। पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर मुन्ना चौधरी नाम के शख्स को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस अब हत्याकांड में शामिल अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है। –आईएएनएस एकेएस/केआर

सीवान, 7 जुलाई । न्यायालय कर्मी राकेश कुमार उर्फ गोल्डन पासवान की हत्या के बाद लोजपा (रामविलास ) सुप्रीमो और केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री चिराग पासवान सीवान पहुंचे। उन्होंने गोल्डन के परिजनों से मुलाकात की और भरोसा दिलाया कि उन्हें न्याय मिलेगा।

केंद्रीय मंत्री ने गोल्डन पासवान हत्याकांड के आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग पुलिस प्रशासन से की है। मृतक की बहन से बात करने के दौरान चिराग पासवान ने सीवान एसपी को तुरंत कॉल भी लगाई और अल्टीमेटम भी दिया। उन्होंने कहा कि अपराधियों की पहचान कर सात दिनों के अंदर कार्रवाई हो जानी चाहिए। इस मामले को मैनें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के संज्ञान में दिया है।

मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए चिराग पासवान ने कहा, ” इस मामले में पुलिस प्रशासन काफी सुस्त दिख रही है। अगर इस मामले में पुलिस प्रशासन के लोग भी दोषी होंगे तो उन पर भी कार्रवाई होगी। कोई भी दोषी बख्शा नहीं जाएगा। जिस तरह से राकेश कुमार (गोल्डन पासवान) की बेरहमी से हत्या की गई, इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने भी कुछ दिन पहले हमसे मुलाकात की थी। हमने पूरी जानकारी जुटाकर मुख्यमंत्री को भी उपलब्ध कराने का काम किया है।”

बता दें कि19 जून 2024 को न्यायालय कर्मी राकेश कुमार उर्फ गोल्डन पासवान अपनी बहन को परीक्षा दिलाने गया हुआ था। जब वह बाइक से वापस लौट रहा था तो अपराधियों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी।

गोल्डन के परिवार वाले हत्याकांड की मुख्य वजह जमीन विवाद बता रहे हैं। पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर मुन्ना चौधरी नाम के शख्स को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस अब हत्याकांड में शामिल अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है।

Leave feedback about this

  • Service