July 16, 2024
National

ईडी-सीबीआई की वजह से विकास कार्यों में आई थी कमी : महुआ माजी

रांची, 9 जुलाई । झारखंड सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार के बाद जेएमएम नेता एवं राज्यसभा सांसद महुआ माजी ने ईडी-सीबीआई पर बड़ा आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि ईडी और सीबीआई की वजह से विकास के काम में कमी आई थी, लेकिन अब तेजी से काम होगा।

महुआ माजी ने जांच एजेंसियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि ईडी-सीबीआई की वजह से विकास के काम में धीमापन आया था। लेकिन, मुझे लगता है कि विकास कार्यों में अब तेजी आएगी।

चंपई सोरेन के सीएम पद से हटने को लेकर उन्होंने कहा कि इस पर मैं कोई कमेंट नहीं करूंगी, क्योंकि यह पार्टी का निर्णय है। चंपई सोरेन बहुत वरिष्ठ हैं, जेएमएम एक परिवार है, पार्टी नहीं। इसमें सभी सदस्य एक-दूसरे के सहयोग से काम करते हैं। उन्होंने स्वेच्छा से पद छोड़ा है, मुझे लगता है कि वह बहुत सुलझे हुए राजनीतिज्ञ हैं। उन्होंने बहुत सोच-समझकर निर्णय किया होगा।

बता दें कि झारखंड में हेमंत सोरेन सरकार ने विधानसभा में विश्वास मत हासिल करने के बाद कैबिनेट का विस्तार किया है। राजभवन में आयोजित एक समारोह में सोमवार को राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने 11 मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

हेमंत सोरेन के लिए सीएम की कुर्सी छोड़ने वाले चंपई सोरेन भी मंत्री बनाए गए हैं। वह पूर्व की हेमंत सोरेन कैबिनेट में भी शामिल थे।

चंपई सोरेन के अलावा जिन मंत्रियों को शपथ दिलाई गई है, उनमें कांग्रेस के डॉ. रामेश्वर उरांव, बन्ना गुप्ता, इरफान अंसारी, दीपिका पांडेय सिंह, झामुमो के मिथिलेश ठाकुर, दीपक बिरुआ, वैद्यनाथ राम, हफीजुल हसन एवं बेबी देवी और राजद के सत्यानंद भोक्ता शामिल हैं।

हेमंत सोरेन के छोटे भाई बसंत सोरेन और कांग्रेस कोटे के मंत्री बादल पत्रलेख को इस बार ड्राप किया गया है। इस बार तीन नए चेहरों को कैबिनेट में जगह दी गई है। इनमें कांग्रेस कोटे से डॉ. इरफान अंसारी एवं दीपिका पांडेय सिंह और झामुमो कोटे से वैद्यनाथ राम शामिल हैं।

Leave feedback about this

  • Service