July 8, 2024
National

शिक्षकों के ट्रांसफर ऑर्डर को लेकर आतिशी के बयान पर वीरेंद्र सचदेवा का पलटवार

नई दिल्ली, 8 जुलाई। दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने शिक्षकों के ट्रांसफर को लेकर केजरीवाल सरकार में मंत्री आतिशी की टिप्पणी पर पलटवार किया है।

बीजेपी नेता वीरेंद्र सचदेवा ने आतिशी पर निशाना साधते हुए कहा, “हम लगातार कहते आ रहे हैं कि आतिशी झूठ बोलती हैं। वो हर मुद्दे पर झूठ बोलती हैं। उन्होंने पानी से लेकर नालों की सफाई पर झूठ बोलकर दिल्लीवासियों को गुमराह किया। झूठ बोलना उनकी फितरत है। मंत्री के अनुमति के बगैर एक भी ऑर्डर जारी नहीं किया जा सकता। यह ऑर्डर आतिशी के दिमाग की उपज थी और अब जब वो गले की फांस बन गया, तो घोषणाएं करने लगीं कि यह गलत हो रहा है, क्योंकि दिल्ली में अब एक नियम बन चुका है कि जो चीज सरकार के लिए ठीक है, उसे रहने देंगे, जो चीज ठीक नहीं है, उसे लेकर उपराज्यपाल पर निशाना साधना शुरू कर देंगे। शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल लगातार हमारे संपर्क में था। एक नहीं, बल्कि कई शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल हमारे संपर्क में आए थे। हमने उपराज्यपाल से मुलाकात की और उनसे मांग की कि ये जो आदेश दिया गया है, उसमें कुछ अनियमितताएं बरती गई हैं। जिनका ट्रांसफर हुआ वो एक साल के अंदर हुआ। अगर ऐसा हुआ तो उन्हें रिटायरमेंट में दिक्कत हो जाएगी।“

उन्होंने आगे कहा, “इसके बाद हमने उपराज्यपाल से मुलाकात की, तो उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि यह ऑर्डर गलत है। इस पर राजनीतिक दबाव है। इसे मैं ठीक करूंगा। इसके बाद मैं इसकी घोषणाएं करूंगा। अब आतिशी को इस बात की परेशानी है कि आखिर उपराज्यपाल ने आदेश वापस क्यों ले लिया। अगर आतिशी मार्लेना को राजनीति करनी है, तो करें, लेकिन मैं एक बात कहना चाहता हूं कि यह कई शिक्षकों की जिंदगी का सवाल है। कम से कम उनके साथ ना खेलें।“

वीरेंद्र सचदेवा ने कहा, “ये लोग दिल्ली के शिक्षकों के साथ खेल रहे हैं। इनके भविष्य के साथ खेल रहे हैं। आज की तारीख में शिक्षकों से पढ़ाई का काम नहीं कराया जाता। उनसे इवेंट कराए जाते हैं। उनको जी हुजूरी करने के लिए कहा जाता है। बच्चों को स्कूल में पढ़ाया नहीं जाता, बल्कि उनसे नारे लगवाए जाते हैं। यही है दिल्ली में शिक्षा का मॉडल। तो अगर शिक्षकों का भला हो रहा है, तो मेहरबानी करके राजनीति ना करें। शिक्षकों का ट्रांसफर आपके विभाग की कारस्तानी थी। जिसे हमने खत्म किया है, तो अब आम आदमी पार्टी के नेता हो हल्ला मचा रहे हैं।“

उपराज्यपाल द्वारा शिक्षकों के ट्रांसफर के फैसले को वापस लेने पर आतिशी ने अपने सोशल मीडिया एक्स हैंडल पर इसे बीजेपी की साजिश बताया था। इसी पर अब बीजेपी नेता वीरेंद्र सचदेवा की यह प्रतिक्रिया सामने आई है।

दरअसल, आतिशी ने अपने सोशल मीडिया एक्स हैंडल पर कहा था, “दिल्ली के सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को बधाई! 2 जुलाई को 5000 से ज्यादा शिक्षकों के ट्रांसफर के ऑर्डर को वापस ले लिया गया है। भाजपा ने दिल्ली की शिक्षा क्रांति को रोकने के लिए एलजी साहब के माध्यम से हज़ारों शिक्षकों के ट्रांसफर करवा दिए थे। परंतु दिल्ली वालों के संघर्ष के कारण, यह षड्यंत्र फेल हो गया। केजरीवाल सरकार दिल्ली के बच्चों को अच्छी शिक्षा देने के लिए प्रतिबद्ध है, चाहे इसके लिए हमें कितनी भी लड़ाई लड़नी पड़े।”

Leave feedback about this

  • Service