June 21, 2024
Haryana

हमारे पाठक क्या कहते हैं: निवासी बंद रोड पर फेंक रहे हैं घरेलू कचरा

गुरुग्राम के सेक्टर 15 में स्थित बंद रोड, जो कभी पैदल चलने वालों के लिए स्वर्ग हुआ करता था, अब डंपयार्ड बन गया है। इस मामले में नगर निगम की अनदेखी के कारण सफाई व्यवस्था में भारी संकट पैदा हो गया है, जिससे आवारा पशुओं की संख्या और बढ़ गई है। इलाके के निवासी अपने घरों का कचरा यहीं फेंक रहे हैं। संबंधित अधिकारियों से अनुरोध है कि वे प्राथमिकता के आधार पर कचरा उठाएं और घर-घर जाकर कचरा इकट्ठा करने की उचित व्यवस्था करें, ताकि ये हरियाली वाले इलाके डंपयार्ड में तब्दील न हो जाएं। – अरुण बंसल, गुरुग्राम

साइकिल ट्रैक का उपयोग वाहनों की पार्किंग के लिए किया जा रहा है सेक्टर 12 में मिनी सचिवालय और राष्ट्रीय राजमार्ग को जोड़ने वाली मुख्य सड़क के किनारे विकसित साइकिल ट्रैक अपने उद्देश्य को पूरा करने में विफल रहा है क्योंकि इसका उपयोग शायद ही कोई साइकिल चालक करता है। कई लाख की लागत से बना यह ट्रैक वास्तव में वाहनों की पार्किंग की जगह बन गया है और पैदल चलने वालों के लिए भी अवरुद्ध रहता है। किसी भी महानगर में पैदल चलने वालों और साइकिल चालकों के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचे का प्रावधान होना बहुत जरूरी है। अधिकारियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि ऐसी सुविधाओं का उपयोग आवश्यक उद्देश्य के लिए किया जाना चाहिए और ऐसे बुनियादी ढांचे पर सार्वजनिक धन की बर्बादी से बचना चाहिए जो अप्रयुक्त रह जाते हैं। – विक्रम, फरीदाबाद

सीवेज ओवरफ्लो के कारण अस्वास्थ्यकर स्थितियाँ वार्ड नंबर 8 के मिल गेट इलाके में सीवर ओवरफ्लो होने से पूरे इलाके में गंदगी का आलम है। पिछले 15 दिनों से सीवर लाइन जाम है, लेकिन अधिकारी इस समस्या पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। इलाके के लोग इस स्थिति से परेशान हैं और चाहते हैं कि अधिकारी इस मामले में तुरंत कदम उठाएं। – भूपेंद्र गंगवा, हिसार

गाय के गोबर के ढेर स्वास्थ्य के लिए खतरा कई अनाधिकृत डेयरियों के मालिक खुले स्थानों पर गोबर फेंक रहे हैं, जिससे यमुनानगर और जगाधरी के निवासियों के स्वास्थ्य को खतरा है। गोबर के ढेर मच्छरों के प्रजनन के लिए जगह बनते हैं, जिससे उन इलाकों में बीमारियाँ फैलती हैं। डेयरियों के मालिक गोबर को सीवर लाइनों में बहा देते हैं, जिससे सीवर के बार-बार जाम होने की समस्या बढ़ जाती है। नगर निगम अधिकारियों को इस समस्या को प्राथमिकता के आधार पर हल करना चाहिए। -अनिल कुमार, यमुनानगर

क्या कोई नागरिक मुद्दा आपको परेशान कर रहा है? क्या आप चिंता की कमी से परेशान हैं? क्या कोई ऐसी खुशी की बात है जिसे आपको उजागर करने की ज़रूरत है? या कोई ऐसी तस्वीर जो आपके हिसाब से सिर्फ़ आपको ही नहीं, बल्कि कई लोगों को देखनी चाहिए?

Leave feedback about this

  • Service