June 21, 2024
National

केजरीवाल के वादों को झूठा बता सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करने उतरी दिल्ली की महिलाएं, कहा- बस, बहुत हो गया

नई दिल्ली, 11 जून । राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली की आक्रोशित महिलाओं ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी महिलाओं ने सीएम केजरीवाल पर झूठ वादे करने का आरोप लगाया। आईएएनएस से बातचीत में महिलाओं ने यह कहने से कोई गुरेज नहीं किया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पहले तो चुनाव के समय भोली-भाली जनता को अपने पाले में करने के लिए लोक-लुभावन वादे करते हैं और बाद में जब उनका काम निकल जाता है, तो वह अपने कदम पीछे खींच लेते हैं।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की इसी प्रवृत्ति से आजिज आकर मंगलवार को महिलाओं ने ‘दिल्ली महिला मंच’ के बैनर तले विरोध प्रदर्शन किया।

प्रदर्शनकारी महिलाओं ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “चुनाव से पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बड़ी ही गर्मजोशी के साथ हमसे वादा किया था कि अगर हम सत्ता में आए, तो दिल्ली की सभी महिलाओं को 1 हजार रुपए प्रतिमाह दिए जाएंगे और अब जब वह सत्ता में आ चुके हैं, तो अपने वादे भूल चुके हैं। इन लोगों को अपना वादा याद नहीं है।“

दिल्ली महिला मंच से आई एक महिला अंजूम खान ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “सबसे पहले मैं आपको बता दूं कि महिला मंच की ओर से यह प्रदर्शन किया जा रहा है। चुनाव से पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महिलाओं से वादा किया था कि एक हजार रुपए प्रतिमाह दिए जाएंगे, लेकिन अब नहीं दिया जा रहा है, जिसे देखते हुए हम यह विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।“

एक अन्य महिला ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “हम लोग महिला मंच से आए हैं और मैं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से यह सवाल करना चाहती हूं कि जो फॉर्म अरविंद केजरीवाल ने हमसे भरवाए थे, उसे पूरा क्यों नहीं किया जा रहा है? आखिर क्यों केजरीवाल अपने वादों से मुकर रहे हैं? दूसरों को यह लोग शराब की बोतलें बांट रहे हैं, लेकिन हमें एक हजार रुपए तक नहीं दे पा रहे हैं।“

एक अन्य महिला ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “दिल्ली का हाल बेहाल है। नल खोलो तो गंदा पानी आता है। बिजली का कोई अता-पता नहीं है। पूरी व्यवस्था बदहाल है। ऊपर से केजरीवाल झूठे वादे करने से बाज नहीं आ रहे हैं। मुख्यमंत्री ने हमसे प्रतिमाह 1 हजार रुपए देने का वादा किया था। इसके लिए बाकायदा फॉर्म भी भरवाए थे, लेकिन अब वह अपने वादे भूल गए हैं। मुख्यमंत्री झूठे वादे करके वोट लेने के लिए जाने जाते हैं। हम यहां पर तपती धूप में प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन वो खुद एसी कमरे में बैठे हुए हैं। उन्हें दिल्ली की जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं है।“

विरोध प्रदर्शन में शामिल रेखा ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “केजरीवाल ने हमसे वादा किया था कि 18 साल की आयु को पार कर चुकी प्रत्येक महिलाओं को 1 हजार रुपए दिए जाएंगे। इसके लिए बाकायदा हमसे फॉर्म तक भरवाए गए थे, लेकिन अभी तक वो पैसा नहीं आया है। मुख्यमंत्री हमेशा झूठ बोलते हैं कि दिल्ली में 200 यूनिट बिजली मुफ्त है, कहीं बिजली मुफ्त नहीं है और कहते हैं कि बस में यात्रा फ्री है, लेकिन बस वाले महिलाओं को देखकर बस रोकते ही नहीं हैं। यह सरकार हम लोगों को पागल बना रही है। इस सरकार का हमसे कोई लेना-देना नहीं है। यह सरकार सिर्फ झूठे वादे करती है। आप किसी से भी पूछ लो। मुख्यमंत्री ने सबसे झूठे वादे किए हैं।“

Leave feedback about this

  • Service